"A bi-lingual platform to express free ideas, thoughts and opinions generated from an alert and thoughtful mind."

Sunday, November 11, 2007

A Question???


Life is a puzzling delight. It offers a new face everytime. So, take it easy as you may come across something which you have never expected before. Enjoy your life to the fullest..........

Do you agree with it? Yes or No. Lets hear your story? Post your experiences and comments on this topic...............

Related Posts :



2 comments:

amit ghosh said...

ya Life is relay puzzling but you can solve it with calm mood, just try n find it.

पुनीत भारद्वाज said...

मैं भी कुछ ये ही मानता हूं...

ज़िंदगी इक अजब तमाशा है

कभी नीम सी कड़वी

कभी मीठा बताशा है.......



कभी ज़ालिम है, ज़हर है, क़हर है ज़िंदगी

तो कभी इक सुनहरी सहर है ज़िंदगी



होंठों पे दबी हंसी सी है

पलकों में छिपी नमी सी है....

ज़िंदगी कहो तो एक दुआ-सलाम भी है

हिंदु की राम-राम, मियां का असलाम भी है



और कहते हैं ज़िंदगी जीने का नाम भी है

मगर ज़िंदगी वो इक नाम भी है

जिसके संग ज़िंदगी गुज़ार सकें

वो शख़्स भी आपकी ज़िंदगी ही है
जो आपकी ज़िंदगी संवार सके...

Post a Comment